Ramprasad Chandrabhan Saraswati Vidya Mandir

Affiliated to CBSE, New Delhi

  • Secretary Speech

    Home   /   Secretary Speech

    सचिव के कलम से


    आज से लगभग 30 साल पहले हमलोगों ने जो सपना देखा था वह आज साकार होता दिख रहा है। भाड़े के मकान से शुरु किया गया विद्यालय आज अपने भवन में सुचारु रुप से चल रहा है। इसके विकास में समाज के कई गणमान्य लोगों का बहुत बड़ा योगदान जिनमंे आनन्दमय भट्टाचार्य, श्री चन्द्रभान अग्रवाल, स्वः दुर्गाप्रसाद नेवटिया, श्री बसंत हेतमसरिया, श्री घनश्याम महतो, महावीर प्रसाद अग्रवाल, श्री युगल प्रसाद जायसवाल, सरदार लाल सिंह आदि प्रमुख हैं। इस विद्यालय के प्रथम कोशाध्यक्ष के रूप में श्री प्रदीप कुमार बेरलिया जी थे और वत्र्तमान में विद्याालय कार्यकारिणी समिति में सशक्त भूमिका में सेवारत्त हैं। आज इस विद्यालय में बच्चों के सर्वागीण विकास के लिए सारी सुविधाएँ उपलब्ध है जो कमी है उसे दूर करने का प्रयास जारी है। गर्व है कि आज यह विद्यालय संस्कारक्षम् वातावरण कायम रखने में समाज में अग्रणी भूमिका निभा रहा है। अतः मै उन समस्त बु़िद्धजीवियों एवं समाज सेवियों के प्रति आभार व्यक्त करता हूँ जिनकी कल्पना से यह विद्यालय विराजमान है। मै समस्त अध्ययनरत भैया-बहनों के उज्जवल भविष्य की कामना करता हूँ।

    श्री शंकर लाल अग्रवाल
    सचिव
    रा॰ प्र॰ च॰ स॰ विद्या मंदिर
    रामगढ़ कैंट